दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इसे देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज दिल्ली के राज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ से चर्चा करेंगे। बैठक में राज्य आपदा प्रबंधन के अफसर और एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया भी मौजूद रहेंगे।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शनिवार को कोरोना के हालात पर समीक्षा बैठक की थी। इस बैठक में अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य सचिव, आईसीएमआर के डायरेक्टर और एम्पावर्ड ग्रुप के सदस्य शामिल हुए।

मीटिंग के बाद पीएमओ ने बताया कि देश में कोरोना के दो तिहाई मामले 5 राज्यों में हैं। बड़े शहरों में ज्यादा संक्रमण फैल रहा है। यहां पर कोरोना संकट से निपटने के लिए टेस्टिंग, बेड की संख्या और जरूरी सेवाएं बढ़ाने पर चर्चा हुई। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने मानसून सीजन के मद्देनजर अस्पतालों में बेड और कोरोना वॉर्ड की जरूरतों को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय को राज्यों के साथ इमरजेंसी प्लानिंग करने के लिए कहा है। मोदी 16 और 17 जून को छठी बार सभी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भी करेंगे।

इस महीने 13 दिन में केस दोगुना हुए
दिल्ली में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। 30 मई को राजधानी में कुल संक्रमितों की संख्या 18 हजार 549 थी, जो 13 जून को 38 हजार 958 पर पहुंच गई। यहां अब तक 14 हजार 945 मरीज ठीक हुए हैं, जबकि 22 हजार 742 का इलाज चल रहा है। 1271 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां हर दिन पांच-साढ़े पांज हजार टेस्ट किए जा रहे हैं।

दिल्ली के नर्सिंग होम्स में कोरोना के इलाज का निर्देश
राजधानी दिल्ली में लगातार दूसरे दिन कोरोना के 2000 से ज्यादा केस मिले। केजरीवाल सरकार ने 10 से 49 बेड तक की क्षमता वाले सभी नर्सिंग होम्स को कोविड डेडिकेटेड घोषित कर दिया है। इनके संचालकों से कहा गया है कि वे 3 दिन में अपने सभी बेड पर कोरोना मरीजों का इलाज शुरू करें। ऐसा नहीं करने पर कार्रवाई होगी।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Amit Shah meet Arvind Kejriwal today as Coronavirus cases spike in Delhi news and updates


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2XYh0f8
via IFTTT