फोटो छत्तीसगढ़ के लोहांडीगुड़ा ब्लॉक में पदस्थ्य स्वास्थ्यकर्मी संतोष पानीग्रही की है। वह चंदेला से अमलीधार गांव जाने के लिए पहले दिन खुद नाव चलाकर तो दूसरे दिन नाव नहीं मिलने से पैदल ही इंद्रावती और भंवरडीह नदी का संगम पार कर गांव पहुंचे। यहां उन्होंनेग्रामीणों में मलेरिया की जांच की और बच्चों का टीकाकरण किया। बीएमओ पीएल मंडावी ने बताया यह नदियों का संगम खतरे से खाली नहीं है। फिर भी पानीग्रही ने नदी पार करग्रामीणों का इलाज किया।

भोपाल में अब तक सामान्य से 251% ज्यादा बारिश

फोटो भोपाल के ज्योति टॉकीज चौराहे की है। मानसून ने आषाढ़में ही सावन जैसी बारिश की झड़ी लगा दी है। गुरुवार शाम 7 बजे से देर रात 2 बजे तक गरज व चमक के साथ तेज बारिश होती रही। इन 7 घंटे में 3 इंच से ज्यादा पानी बरसा। शहर में कई जगह जलभराव हुआ। शहर में गुरुवार रात तक 167.3 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई है जो कि अब तक की सामान्य बारिश के कोटे 47.8 मिमी से 251% ज्यादा है।

आसमानी आग:हिसार में पारा @ 44.2 डिग्री

फोटो हरियाणा के हिसार की है। यहां इन दिनों सूरज भीषण आग उगल रहा है। हिसार में लगातार दो-तीन दिन से तपती धूप में तापमान 40 डिग्री से पार है। गुरुवार को तापमान 44.2 डिग्री रहा। दोपहर में एक महिला बच्चे को चुन्नी की मदद से गर्मी और धूप से बचाने का प्रयास करती हुई नजर आई।

ठेकेदार न तो वेतन दे रहे न काम, रोष

फोटो छत्तीसगढ़ के भिलाई की है। बीएसपी में ठेकेदारों के निरंकुश रवैए से नाराज मजदूरों ने धारा-144 और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए गुरुवार को आईआर विभाग के सामने करीब 6 घंटे तक धरना दिया। नाराजगी समय पर वेतन भुगतान नहीं करने व काम से हटाए जाने को लेकर थी। जिला प्रशासन के आश्वासन बाद धरना समाप्त हुआ।

तीन महीने बाद स्कूल आए बच्चे, परीक्षा दी

फोटो राजस्थान के जयपुर की है। 18 मार्च से स्थगित हुई राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की शेष परीक्षाएं गुरुवार से प्रारंभ हुईं। पहले दिन बारहवीं कक्षा का गणित का पेपरहुआ। स्कूलों में तीन महीने बाद बच्चों की चहल-पहल हुई, न्यू नॉर्मल के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का सभी ने पालन किया गया। सेंटर पर स्कूल स्टाफ ने हाथों को सेनेटाइज करने के बाद ही स्टूडेंट्स कोप्रवेश दिया।

41 डिग्रीपारे ने सताया तो झील में उतरा ‘सागर’

फोटो हरियाणा के रोहतक की है। गुरुवार को शहर में पारा 41 डिग्री पर था। गर्मी की यह तपिश आम लोगों के साथ पशु-पक्षियों के लिए भी परेशान करने वाली थी। ऐसे में तिलियार स्थित मिनी चिड़ियाघर में छत्तीसगढ़ से लाए गए टाइगर सागर को कूलर से भी राहत नहीं मिली तो वह बाड़े में ही बनाई कृत्रिम झील में उतर गया।

शहर में दिखा हरा कबूतर, कभी नहीं बैठते जमीन पर

फोटो राजस्थान के बांसवाड़ा की है।महाराष्ट्र का राज्यीयपक्षी ट्रेरोन फोनिकोप्टेरा यानी हरा कबूतर बहुत ही दुर्लभहै। जिसका एक बच्चा पुलिस लाइन के सामने औद्योगिक क्षेत्र में दिखाई दिया। इसकी खासबात यह है कि यह कभी जमीन पर नहीं बैठते हैं और हमेशा जोड़े में ही रहते हैं। इसकी आंखे पूरी तरह से काली होती हैं और इसके पैर और चोंच पहले सामान्य फिर पीले रंग के हो जाते हैं। महाराष्ट्र में इसे होला या हरियल भी कहा जाता है। यह कबूतर इसलिए नीचे बैठा है, क्योंकि यह बीमार है और उड़ नहीं सकता।

खंडी नदी एनीकट के आठ गेट खुले

फोटो छत्तीसगढ़ के कांकेर की है। शहर से सटे ग्राम नारायणपुर कन्हारगांव स्थित खंडी नदी पर बने एनीकट के 8 गेट गुरुवार काे खोले गए। जानकारी फैलते ही आसपास गांव के लोग यहां मछली पकड़ने जाल, थैला लेकर पहुंच गए। भानुप्रतापपुर सहित कन्हारगांव, नारायणपुर, सेमरापारा, घोड़ाबत्तर, कुकरीपारा, घोठा, मोहगांव, पांडरपुरी सहित कई गांव के लोग पूरे दिन मछली पकड़ते रहे।

बिजली कड़की, बेनकाब हुए नदी को छलनी करने वाले

फोटो मध्यप्रदेशके शाजापुर जिले के बोलाई गांव की है। इसे9:10 बजे बरसते पानी में बादलों की गड़गड़ाहट के साथ चमकती बिजली की रोशनी में लिया गया है। फोटो में रेत माफिया सकतखेड़ी नीछमा में कालीसिंध नदी से अवैध तरीके से रेत निकाल रहे हैं। अचानक बारिश होने के कारण रेत माफियाट्रैक्टर ट्राॅली व जेसीबी लेकरभागने लगे। नदी में तो पिछले कई वर्षों से रेत बची नहीं है, लेकिन रेत माफिया अब नदी की तलहटी पर जेसीबी चलाकर रेत के धंधे से मोटी कमाई में जुटे हैं।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Health worker crossing river to reach malaria vaccine in Chhattisgarh, 251% more rain than normal in Bhopal so far


from Dainik Bhaskar /local/delhi-ncr/news/health-worker-crossing-river-to-reach-malaria-vaccine-in-chhattisgarh-251-more-rain-than-normal-in-bhopal-so-far-127425403.html
via IFTTT