दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक 4 लाख 23 हजार 086 लोगों की मौत हो चुकी है। संक्रमितों का आंकड़ा 75 लाख 83 हजार 915 हो गया है। इसी दौरान 38 लाख 35 हजार 187 लोग स्वस्थ भी हुए। ब्राजील से एक अहम खबर है। यहां संक्रमितों की संख्या 8 लाख से ज्यादा हो गई है। यहां महामारी के हालात यह हैं कि लगातार पांच दिन से 30 हजार से ज्यादा संक्रमित रोज मिल रहे हैं। राष्ट्रपति जायर बोल्सोनोरो की देश ही नहीं, बल्कि दुनिया में भी आलोचना हो रही है। शुरुआत में उन्होंने कोरोनावायरस को मामूली फ्लू बताया था।

कोरोनावायरस : 10 सबसे ज्यादा प्रभावित देश

देश

कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 20,89,701 1,16,034 8,16,086
ब्राजील 8,05,649 41,058 3,96,692
रूस 5,02,436 6,532 2,61,150
भारत 2,98,283 8,501 1,46,972
ब्रिटेन 2,91,409 41,279 उपलब्ध नहीं
स्पेन 2,89,787 27,136 उपलब्ध नहीं
इटली 2,36,142 34,167 1,71,338
पेरू 2,14,788 6,109 1,02,429
जर्मनी 1,86,795 8,851 1,71,200
ईरान 1,80,156 8,584 1,42,663

ये आंकड़ेhttps://ift.tt/37Fny4Lसे लिए गए हैं।

ब्राजील : हर दिन बढ़ती मुश्किलें
राष्ट्रपति बोल्सोनोरो की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। देश में संक्रमण के 8 लाख से ज्यादा मामलों की पुष्टि हो चुकी है। 24 घंटे में यहां 30 हजार 412 मरीज सामने आए। दिक्कत की बात यह है कि लगातार पांच दिन से यहां हर रोज 30 हजार से ज्यादा संक्रमितों की पुष्टि हो रही है। मरने वालों का आंकड़ा भी 40 हजार से ज्यादा हो गया है। गुरुवार को 1239 लोगों की मौत हुई। अमेरिका के बाद ब्राजील में सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं।

बचाव के लिए मास्क सबसे ज्यादा उपयोगी
टेक्सॉस और कैलिफोर्निया में हुई एक स्टडी में कहा गया है कि वायरस हवा के जरिए सबसे तेजी से फैलता है। लिहाजा, मास्क ही संक्रमण से बचने का सबसे बेहतर तरीका है। एटमॉस्फेरिक साइंस के रिसर्चर रेन्यी झांग की टीम ने इटली और न्यूयॉर्क में मास्क को अनिवार्य बनाए जाने के पहले और बाद के नतीजों का अध्यन किया। रिसर्च डेटा में सामने आया कि जैसे ही इन दोनों जगहों पर मास्क जरूरी किया गया तो मामले कम होने लगे।

इजराइल की औद्योगिक राजधानी तेल अवीव के एक रेस्टोरेंट में मास्क पहनकर बैठीं महिलाएं। गुरुवार को टेक्सॉस और कैलिफोर्निया में हुई एक स्टडी की रिपोर्ट जारी की गई। इसमें कहा गया है कि संक्रमण को रोकने के लिए सबसे अच्छा विकल्प मास्क है।

इटली: बच्चों पर खतरा
इटली के पब्लिक सेफ्टी डिपार्टमेंट ने एक बयान में कहा है कि देश में महामारी की शुरुआत से अब तक 4564 बच्चे संक्रमित हो चुके हैं। इतना ही नहीं चार बच्चों की मौत भी हो चुकी है। संक्रमित बच्चों में ज्यादातर की उम्र 7 से 17 साल के बीच है। बीमारी से मारे गए सभी बच्चे सात साल से कम उम्र के थे। सभी संक्रमित बच्चों को इलाज घर पर ही किया गया। सिर्फ 100 बच्चों को ही अस्पतालों में भर्ती कराया गया था। बयान के मुताबिक, अगर स्कूलों को बंद नहीं किया गया होता तो संक्रमित बच्चों की संख्या ज्यादा हो सकती थी।

मैक्सिको : राहत के संकेत नहीं
लैटिन अमेरिका में संक्रमण के मामले कम होते नहीं दिखते। ब्राजील और पेरू के बाद मैक्सिको में भी महामारी तेजी से फैल रही है। सरकार ने कुछ सख्त पाबंदियां लगाई हैं। बाजार बंद हैं लेकिन, इसके बावजूद मामले कम नहीं हो रहे। गुरुवार को यहां 4790 नए केस सामने आए। देश में कुल संक्रमितों की संख्या 1 लाख 33 हजार 974 हो गई। 24 घंटे में 587 लोगों की मौत हुई। मरने वालों का आंकड़ा 15 हजार 944 हो गया। सरकार ने खुद कहा है कि मरने वालों और संक्रमितों की तादाद इससे ज्यादा हो सकती है।

मैक्सिको में भी मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे। इस छोटे से देश में गुरुवार को करीब पांच हजार नए संक्रमितों की पुष्टि हुई। सरकार ने खुद माना है कि संक्रमितों और मरने वालों का आंकड़ा ज्यादा होने की आशंका है। फोटो मैक्सिको सिटी के एक ट्रैफिक सिग्नल के करीब मास्क लगाकर खड़ी महिला की है।

पाकिस्तान : फिर तेजी से बढ़े मामले
इमरान खान सरकार की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। देश में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन 6 हजार से ज्यादा नए संक्रमितों की पुष्टि हुई। डॉन न्यूज की एक रिपोर्ट के मुताबिक, संक्रमितों की संख्या सरकारी आंकड़ों पर आधारित है और हकीकत में मामले बहुत ज्यादा हो चुके हैं। नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन के सांसद ख्वाजा आसिफ ने गुरुवार को कहा कि इमरान सरकार मुल्क को संभालने में हर मोर्चे पर नाकाम रही है। आसिफ ने कहा- अब ऊपर वाला ही इस मुल्क की हिफाजत कर सकता है।

पाकिस्तान में बुधवार के बाद गुरुवार को भी यानी लगातार दूसरे दिन 6 हजार से ज्यादा संक्रमितों की पुष्टि हुई। विपक्षी सांसद और पूर्व सांसद ख्वाजा आसिफ ने कहा कि अब ऊपर वाला ही मुल्क की हिफाजत कर सकता है। यहां अब भी ज्यादातर लोग न तो मास्क लगा रहे हैं और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। फोटो गुरुवार को कराची के एक बाजार से गुजरती महिला की है।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
ब्राजील में संक्रमण बेकाबू होता नजर आ रहा है। सरकार का विरोध भी तेज हो गया है। गुरुवार को राजधानी रियो डि जेनेरियो के कोपाकाबाना बीच पर एक एनजीओ के लोगों ने करीब 100 कब्र तैयार कीं। इनका कहना है कि महामारी से लोग मर रहे हैं और सरकार नाकाम रही है। इसलिए ये कब्र काम आएंगी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2B4MKWU
via IFTTT