दुनियाभर में माता-पिता इस ज्वलंत सवाल से जूझ रहे हैं कि वे अपने बच्चों को स्कूल भेज सकते हैं या नहीं? कोरोना वायरस महामारी के बीच लोग अब लॉकडाउन से बाहर निकल रहे हैं। न्यूयॉर्क टाइम्स ने अमेरिका में 500 से अधिक महामारी विदों और संक्रामक बीमारियों के विशेषज्ञों से पूछा कि उन्हें दैनिक जीवन की 20 गतिविधियों के कब तक शुरू होने की संभावना लगती है।

बच्चों को स्कूल भेजने के सवालपर अधिकतर विशेषज्ञों ने कहा कि वे कुछ समय तक इंतजार करना चाहेंगे। कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि वे बाद में गौर करेंगे। कई एक्सपर्ट की राय यह है कि वे सितंबर तक इंतजार करेंगे।

कुछने कहा-वैक्सीन के आने तक इंतजार करेंगे

ज्यादातर ने कहा कि वे बड़े समूहों के साथ गतिविधियां शुरू करना चाहेंगे। कुछ अन्य ने कहा कि वे वैक्सीन के आने तक इंतजार करेंगे। वैक्सीन आने में एक साल या अधिक समय लग सकता है।कई विशेषज्ञों ने कहा कि वे अपने इलाके में इंफेक्शन की दर और स्कूलों द्वारा सुरक्षा के लिए किए उपायों पर नजर रख रहे हैं।

कुछ ने कहा-बच्चों के लिए स्कूल बहुत महत्वपूर्ण

कुछ विशेषज्ञअपनी स्थितियों जैसेपरिवार के स्वास्थ्य को खतरा, उनका काम और बच्चों के शैक्षणिक, सामाजिक जीवन पर भी विचार कर रहे हैं। कुछ ने कहा कि बच्चों के लिए स्कूल बहुत महत्वपूर्ण हैं। इसलिए वे जोखिम उठाने के लिए भी तैयार हैं। महामारी विशेषज्ञों का मूल मंत्र है- यह स्थितियों पर निर्भर करेगा। उनका कहना है कि सभी कारणों को ध्यान में रखकर वे अपनी योजना बदल सकते हैं।

उनके अनुमान किसी के लिए सलाह नहीं हैं, पर उनकी राय से समझा जा सकता है कि विशेषज्ञ अपने जीवन के इस कठिन प्रश्न पर क्या सोच रहे हैं।

जॉन हॉपकिंस जैसे संस्थानों के विशेषज्ञ अपने बच्चों के स्कूल जाने पर क्या कह रहे हैं?

  1. वाशिंगटन स्थित कैसर परमानेंटे हेल्थ रिसर्च इंस्टीट्यूट कीलीसा हैरिनटन ने कहा-बच्चे सुरक्षित हैं। मुझे उनसे ज्यादा शिक्षकों की चिंता है।
  2. एपिफी कंसल्टिंग केकार्ल फिलिप्स ने कहा-वर्तमान स्थिति को देखते हुए सितंबर में भी स्कूल खोलना बेवकूफी होगी।
  3. मैकगिल यूनिवर्सिटी केअरिजीत नंदी ने कहा- बच्चों को स्कूल से बाहर रखना अभिभावकों को महंगा पड़ सकता है।
  4. कोलोरेडो स्टेट यूनिवर्सिटी केब्रुक एंडरसन ने कहा-मौजूदा स्थिति के अनुसार, मैं बच्चों को अगस्त में स्कूल भेजना चाहूंगा।
  5. जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सटी कीस्टीफेन हेलेरिंगर ने कहा-बच्चों को अभी स्कूल भेजने के मामले में अभी बहुत हिचकहै।
  6. कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी कीएमी पडुला ने कहा-मेरे बच्चों का डे केयर सेंटर जून के अंत में खुलेगा। वहां अच्छी व्यवस्था है।
  7. हार्वर्ड यूनिवर्सिटी कीहाना लेजली ने कहा- सितंबर में एलिमेंट्री स्कूल में लोगों के जाने से खतरा अधिक हो सकता है।
  8. पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी कीक्रिस्टीना मायर ने कहा-सितंबर तक इस मामले में जोखिम लिया जा सकता है।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
कई विशेषज्ञों ने कहा कि वे अपने इलाके में इंफेक्शन की दर और स्कूलों द्वारा सुरक्षा के लिए किए उपायों पर नजर रख रहे हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3fpL3SS
via IFTTT