कोविड-19 महामारी के बीच वालीबॉल प्रेमियों के लिए अच्छी खबर है। एक बार फिर उन्हें जल्द ही प्रो वॉलीबॉल लीग (पीवीएल) के मुकाबले देखने मिल सकते हैं। दूसरे सीजन के लिए वॉलीबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया ने तैयारी शुरू कर दी है। साढ़े 15 करोड़ रु. की यह लीग पहली बार 7 फरवरी से एक मार्च 2020 तक हुई थी। पहले सीजन के सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबले 5 करोड़ लोगों ने देखे थे। लोकप्रियता को देखते हुए इस बार सभी मैच का लाइव टेलीकास्ट हो सकता है।

इस बार दो नई टीमों को खेलने का मौका मिलेगा। यानी अब 6 नहीं बल्कि 8 टीमों के बीच चैंपियन बनने की जंग होगी। फेडरेशन उन राज्यों में आयोजन की तैयारी कर रहा है, जहां कोरोना का असर कम है। अगस्त में होने वाली एजीएम में लीग के वेन्यू, तारीख आदि पर चर्चा होगी।

केरल, राजस्थान या तमिलनाडु में मुकाबले:उन राज्यों में आयोजन हो सकता है, जहां वुडन कोर्ट या इंडोर कोर्ट हो और इस खेल की लोकप्रियता हो। तीनों कैटेगरी के आधार पर केरल, राजस्थान, तमिलनाडु का नाम आयोजन स्थल की लिस्ट में शामिल हैं।

इस बार 12 नहीं 16 विदेशी खिलाड़ी लीग में उतरेंगे: 8 टीम में 16 विदेशी खिलाड़ी खेलते नजर आएंगे। प्रत्येक टीम में 2 विदेशी खिलाड़ी रहेंगे। नेशनल टीम के 5 सीनियर और 5 ही जूनियर खिलाड़ियों को टीम में रखा जाएगा। इस तरह एक टीम में कुल 12 खिलाड़ी होंगे।

ढाई करोड़ रुपए की प्राइज मनी बांटी जाएगी: कुल ढाई करोड़ रुपए की प्राइज मनी दी जाएगी। चैंपियन को अब 1 करोड़ और रनरअप टीम को 50 लाख रुपए की प्राइज मनी मिलेगी। पहले सीजन में विजेता को 50 लाख और रनरअप को 30 लाख रुपए मिले थे।

ब्रॉडकास्टिंग को लेकर अभी बात होनी है:पिछले सीजन में सेमीफाइनल और फाइनल का लाइव टेलीकास्ट हुआ था। इस बार सभी मैचों के टेलीकास्ट पर जोर दे रहे हैं। कई चैनल से ब्रॉडकास्टिंग पर बात होनी है। एजीएम में आयोजन की तिथि घोषित की जाएगी।- रामलाल वर्मा, उपाध्यक्ष, भारतीय वॉलीबॉल फेडरेशन



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
पहले सीजन के सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबले 5 करोड़ लोगों ने देखे थे। लोकप्रियता को देखते हुए इस बार सभी मैच का लाइव टेलीकास्ट हो सकता है।-फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3jycmxp
via IFTTT