देश में कोरोना के मामले 12 लाख के आंकड़े को पार कर गए हैं। 11 लाख से 12 लाख केस होने में सिर्फ तीन दिन लगे। पिछले 12 दिन से हर तीन दिन में एक लाख से ज्यादा नए मरीज सामने आ रहे हैं। सिर्फ जुलाई महीने के 22 दिन में ही कोरोना के करीब साढ़े छह लाख नए केस सामने आए हैं।

30 जनवरी कोपहला केस सामने आने के बाद पांच महीने में देश में 5.85 लाख केस आए। पिछले 22 दिन में कोरोना के मामले दोगुनासे ज्यादा हो गए हैं।हालांकि, रिकवरी रेट भी लगातार बढ़ रहा है। हर 10 लाख की आबादी में 896 लोग पॉजिटिव पाए जा रहे हैं। इस लिहाज से हम दुनिया में 103वें नंबर पर हैं।हर 10 लाख आबादी पर देश में 22 मौतें हो रहीं, इस लिहाज से हम दुनिया में 98 नंबर पर हैं। वहीं,10 लाख लोगों में से सिर्फ 10,664 का कोरोना टेस्ट हो रहा, इस लिहाज से हम दुनिया में 136 नंबर पर हैं।


तीन सबसे संक्रमित देशों में सिर्फ भारत में रफ्तार लगातार बढ़ रही

अमेरिका, ब्राजील और भारत इस वक्त दुनिया के तीन सबसे संक्रमित देश हैं। तीनों देशों में सिर्फ भारत ही ऐसा है, जहां रोज नए केस आने के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस वक्त दुनिया में रोज 2 लाख से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। इनमें से 20% मरीज भारत में मिल रहे हैं। इस वक्त दुनिया के एक चौथाई मरीज सिर्फ अमेरिका में हैं। अमेरिका और ब्राजील में हर रोज आने वाले मामले स्थिर हो चुके हैं। लेकिन, भारत में इनकी संख्या लगातार बढ़ रही है। इससे दुनिया में रोज मिलने वाले मरीजों में भारत की हिस्सेदारी और बढ़ने की आशंका है।

हर तीन दिन में एक लाख से ज्यादा केस बढ़ रहे

30 जनवरी को देश में कोरोना का पहला मामलाआया था। इसके 109 दिन बाद यानी 10 मई को यह संख्या बढ़कर एक लाख हुई। फिर संक्रमण की रफ्तार में इतनी तेजी आई कि महज 15 दिनों में ही आंकड़ा 2 लाख के पार हो गया। संक्रमितों की संख्या 2 से 3 लाख होने में महज 10 दिन लगे। 3 से 4 लाख मामले होने में 8 दिन और 4 से 5 लाख मामले होने में केवल 6 दिन लगे।

केस बढ़ने की यह रफ्तार लगातार तेज हो रही है। 5 से 6 लाख और 6 से 7 लाख मामले होने में केवल 5-5 दिन लगे। 7 से 8 लाख मामले होने में केवल 4 दिन लगे। मतलब हर दो दिन में औसतन 50 हजार केस सामने आए। इसके बाद आठ सेनौ लाख, नौ से दस लाख, दस से 11 लाख और 11 से 12 लाख केस होने केवल तीन-तीन दिन लगे। इसमें भी हर दिन सामने आने वाले केस लगातार बढ़ रहे हैं।

देश में मौतों का आंकड़ा स्पेन से भी ज्यादा हुआ

कोरोना से हुई कुल मौतों के मामले में हम 7वें नंबर पर पहुंच गए हैं। दो दिन पहले तक भारत कुल मौतों के लिहाज से दुनिया में आठवें नंबर पर था। अब स्पेन में हमारे देश से कम मौत के मामले हैं। देश में कोरोना से पहली मौत 13 मार्च को हुई थी। पिछले 131 दिन में 29 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं।इनमें से 24 हजार से ज्यादा लोगों ने पिछले 53 दिन में जान गंवाई है।

दुनिया के 207 देशों से ज्यादा केस अकेले महाराष्ट्र में, देश के 64% मामले सबसे संक्रमित 5 राज्यों में

दुनिया के 215 देशों और आईलैंड में कोरोना के मामले आए हैं। इसमें 207 देश ऐसे हैं, जहां महाराष्ट्र से भी कम संक्रमित हैं। केवल 8देश ऐसे हैं जहां महाराष्ट्र से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। भारत में कुल संक्रमितों में 27% लोग महाराष्ट्र से ही हैं। मौत के आंकड़ों को देखें तो अब तक हुई कुल मौतों में 42% लोग इसी राज्य से थे।

अब तक करीब डेढ़ करोड़ लोगों का टेस्ट, इसमें 8.2% लोग पॉजिटिव निकले

भारत में अब तक करीब डेढ़ करोड़ लोगों का कोरोना टेस्ट हो चुका है। इनमें 8.2% लोग संक्रमित मिले हैं। अमेरिका में करीब पांच करोड़ टेस्टिंग हुई है और इनमें 8% लोग पॉजिटिव पाए गए। सबसे खराब हालत ब्राजील की है। यहां अब तक करीब 50 लाख लोगों की जांच हुई और इनमें 44%से ज्यादा लोग संक्रमित मिले हैं।

देश में 63% से ज्यादा मरीज ठीक हुए, दुनिया का औसत 61%

दुनिया के कुल कोरोना संक्रमित मरीजों में से करीब 61% मरीज ठीक हो चुके हैं। वहीं, भारत में करीब 7.83 लाख मरीज अब तक ठीक हुए हैं। यानी, कुल संक्रमितों का 63% से ज्यादा लोग ठीक हुए हैं। इस लिहाज से हमारे देश में ठीक हो रहे मरीजों का औसत दुनिया के औसत से थोड़ा बेहतर है।

देश के अलग-अलग अस्पतालों में इस वक्त 4.25 लाख मरीजों का इलाज चल रहा है। अब तक 2.4% मरीजों की जान गई है। उधर, अमेरिका का डेथ रेट 3.6% है। ब्राजील में अब तक 3.7% मरीजों की जान जा चुकी है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Delhi Mumbai/Coronavirus Cases In India Cross 12-lakh Mark | More Than 6 Lakh New COVID Cases Came In 22 Days In Haryana Madhya Pradesh


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3eN1Gaw
via IFTTT