कानपुर में हिस्ट्री शीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला, डीएसपी और थाना प्रभारी समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद

लखनऊ. उत्तरप्रदेश के कानपुर में गुरुवार रात दबिश देने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने आंधाधुंध गोलियां चलाईं। इसमें सर्कल ऑफिसर (डीएसपी) और थाना प्रभारी समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। बताया जा रहा है कि पुलिस को यहां के एक ठिकाने परहिस्ट्री शीटर विकास दुबे को पकड़ने गई थी, लेकिन उसकी गैंग ने पुलिस पर घात लगाकर हमला किया और विकास दुबे फरार हो गया।बदमाश पुलिस के कई असलहे लूट ले गए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एसटीएफ की टीम को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। पुलिस ने यूपी के सभी बॉर्डर सील कर दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक, हमलावरों ने छत से पुलिसकर्मियों पर फायरिंग की। मुठभेड़ के दौरान बिठूर थाना प्रभारी कौशलेंद्र प्रताप सिंह समेत 6 पुलिसकर्मियों को गोली लगी। इनका इलाज रीजेंसी हॉस्पिटल में चल रहा है।

ये पुलिसकर्मी शहीद हुए
डीएसपीबिल्हौर देवेंद्र मिश्र, थाना प्रभारी शिवराजपुर, सब इंस्पेक्टर, 5 सिपाही शहीद हुए।

कौन है विकास दुबे?
विकास दुबे उत्तरप्रदेश का कुख्यात बदमाश है। उसने 2001 में थाने में घुसकर भाजपा नेता और राज्यमंत्री संतोष शुक्ला की हत्या की थी। वह थाने में घुसकर पुलिसकर्मी समेत कई लोगों की हत्या कर चुका है। विकास पर 60 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। वह प्रधान और जिला पंचायत सदस्य भी रह चुका है।

दो थानों की पुलिस दबिश देने के लिए गई थी। तभी बदमाशों ने छत से ताबड़तोड़ फायरिंग की।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
घटना कानपुर के बिठूर थाना इलाके में हुई। बदमाश पुलिस के कई हथियार भी लूट ले गए।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2NRBFvC
via IFTTT

Post a Comment

0 Comments