गोली लगने के तीसरे दिन मीडियाकर्मी ने दम तोड़ा; छेड़छाड़ की शिकायत करने पर बदमाशों ने सोमवार को हमला किया था

बदमाशों की फायरिंग में गंभीर रूप से घायल हुए पत्रकार विक्रम जोशी की बुधवार को मौत हो गई। सोमवार रात बदमाशों ने जोशीपर हमला किया था। इस मामले में अब तक 9 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। लापरवाही के आरोप में प्रताप विहार चौकी के इंचार्ज राघवेंद्र सिंह को सस्पेंड किया जा चुका है।

जोशी ने अपनी भांजी से छेड़छाड़ की शिकायत पुलिस से की थी। परिजनों का आरोप है कि बदमाशों ने इसी बात का बदला लेने के लिए जोशी पर हमला कर दिया। इस मामले में पुलिस ने समय पर कार्रवाई नहीं की। जब तक मुख्य आरोपी नहीं पकड़ा जाता, तब तक शव नहीं लेंगे। जोशी सोमवार रात अपनी बेटियों के साथ बाइक से जा रहे थे। रास्ते में बदमाशों ने उन्हें रोककरमारपीट की और सिर में गोली मार दी।

उत्तर प्रदेश में जंगलराज: कांग्रेस
इस मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट किया- गाजियाबाद एनसीआर में है। यहां कानून व्यवस्था का ये आलम है तो आप पूरे यूपी के हाल का अंदाजा लगा लीजिए। एक पत्रकार को इसलिए गोली मार दी गई, क्योंकि उन्होंने भांजी से छेड़छाड़ की तहरीर पुलिस में दी थी। इस जंगलराज में कोई भी आमजन खुद को कैसे सुरक्षित महसूस करेगा?



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
पत्रकार के परिजनों का कहना है कि पुलिस ने सही समय पर कार्रवाई नहीं की। जब तक मुख्य आरोपी नहीं पकड़ा जाता तब तक शव नहीं लेंगे।


from Dainik Bhaskar /national/news/ghaziabad-journalist-vikram-joshi-passed-away-he-was-shot-at-in-vijay-nagar-area-127539549.html
via IFTTT

Post a Comment

0 Comments