फोटो पंजाब केबठिंडा की है। सोमवार को बारिश से पूरा शहर जलमग्न हो गया। लाइनपार एरिया में पानी भरने पर पूर्व पार्षद विजय कुमार ने गलततरीके से विरोध जताया। उन्होंने नाव निकाली व कुछ पड़ोसियों के बच्चों को बिठाया और गली में विरोध-प्रदर्शन किया। उन्होंने खुद लाइफ जैकेट पहनी थी जबकि बच्चे बिना जैकेट के थे। ऐसे में हादसा हो सकता था। उन्होंने बताया कि प्रदर्शन का मकसद प्रशासन व स्थानीय नेताओं को वादे याद दिलाना था। बच्चे उनके परिजनों के कहने पर ही बिठाए थे।

खुले आसमान तले जिंदगी गुजारने को मजबूर

फोटोबिहार के मुजफ्फरपुर के औराई प्रखंड के चैनपुर की है। बाढ़ में घर खो चुकी नगीना देवी बीमार है। बचे कपड़े व कुछ बर्तन लिए खुले आसमान में तीन दिन से बेटे और गोतिनी के साथ नाव पर ही जिंदगी बीत रही है। कोई अस्पताल पहुंचाने वाला भी नहीं। प्रशासन की ओर से बाढ़ के समय बांध पर एंबुलेंस तैनात करने की घोषणा भी हवा-हवाई साबित हुई।

लहरों को मात दे अस्पताल पहुंची गर्भवती, बच्चे की मौत

छत्तीसगढ़ केबीजापुर जिले के गोरला गांव से गंज के सहारे नदी पार कर एक गर्भवती सुरक्षित प्रसव के लिए भोपालपटनम के सरकारी हास्पिटल पहुंची। महिला ने पानी की लहरों को तो मात दे दी लेकिन वह बिगड़े सिस्टम से नहीं लड़ पाई। जिस सरकारी हॉस्पिटल में वह बच्चे का जन्म देने पहुंची थी उस हास्पिटल में समय पर कोई स्टाफ ही नहीं मिला और बच्चे ने पेट में दम तोड़ दिया। अचानक बच्चे की मौत को लेकर परिजनों ने स्टाफ पर आरोप लगाते हुए इनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

पटियाला में 24.6 एमएम बारिश, आज भी आसार

पंजाब के पटियाला मेंरविवार देर रात से ही रुक-रुक कर बारिश होती रही।इस कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई। बारिश से पहले रात में तेज आंधी आई थी, जिस कारण कई इलाकाें की लाइट चली गई। न्यूनतम तापमान में 4 और अधिकतम तापमान में 6 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। दिन का अधिकतम तापमान 27.8 और न्यूनतम 23 डिग्री रहा। इस दाैरान जिले में 24.6 एमएम बारिश रिकाॅर्ड की गई। मौसम विभाग ने आज भी बारिश का अनुमान लगाया है।

पिछले 15 दिनों से बारिश थमी

विदिशा जिले मेंपिछले एक पखवाड़े सेमानसून जैसे लापता है। जबकि जिले में करीब 35 हजार हेक्टेयर में धान की फसल खड़ी हुई है। पानी से डूबे होने के बजाए धान के सूख चुके खेतों में दरारें पड़ गई हैं। जिले में कुल 41 सेमी बारिश हुई है। इसमें से पिछले 15 दिनों के दौरान में महज 2.5 सेमी बारिश ही हुई है।

मॉनसून मतलब नए पौधों का मौसम

फोटोचंडीगढ़ की है।मॉनसून मतलब नए पौधों का मौसम। यह ऐसा मौसम है, जब बिना लगाए भी पौधे उठ खड़े हो जाते हैं। रॉक गार्डन पत्थरों से बना है। यहां पेड़ भी कंक्रीट का बनाया गया है। लेकिन इसके साथ वाली दीवार में से कुछ पौधे इस तरीके से निकल आए हैं मानो ये इस कंक्रीट के पेड़ की टहनियां हों।

वन विभाग की रेस्क्यूटीम मौके पर पहुंची

फोटो मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले केबनखेड़ी की है। यहांमनकवाड़ा- बंदरझिला के बीच ओल नदी के पास मंगलवार शाम करीब 15 फीट लंबे अजगर ने बकरी को जिंदा निगल लिया। सूचना पर वन विभाग की रेस्क्यू टीममौके पर पहुंची। करीब 1 घंटे के प्रयास के बाद अजगर को पकड़ने में सफल हो सकी। बकरी किसी बंदरझिला निवासी व्यक्ति की बताई जा रही है। पकड़े गए अजगर को फतेहपुर के जंगल मे सुरक्षित छोड़ा जाएगा।

सड़कों पर मवेशियों का जमावड़ा आम

फोटो मध्यप्रदेश केशाजापुर जिले की है।शहरी क्षेत्रों में इन दिनों सड़कों पर मवेशियों का जमावड़ा आम हो गया है। इस कारण वाहन चालकों को दिक्कतें झेलना पड़ रही है। खासकर ग्रामीण क्षेत्रों से शहर को जोड़ने वाली सड़कों पर सुबह व शाम के समय रास्ता ही बंद हो जाता है। मामूली बारिश हो जाने के बाद तो सारे मवेशी सड़कों पर ही खड़े हो जाते हैं। ऐसे में वाहन चालकों को सड़क से नीचे उतरते हुए यहां से निकलना पड़ता है।

दिल्ली- एनसीआर में बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने मंगलवार और बुधवार के लिए तो ऑरेंज अलर्ट जारी कर कहा है कि दिल्ली का मौसम दो-तीन दिन इसी तरह का बना रहेगा। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली से लेकर नोएडा, गुरुग्राम, फरीदाबाद और गाजियाबाद समेत एनसीआर के अन्य शहरों में मंगलवार को ठीक ठाक बारिश हुई है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
This method of demonstration is not right, former councilor himself wore a life jacket, seated the children of neighbors on a similar boat


from Dainik Bhaskar /local/delhi-ncr/news/this-method-of-demonstration-is-not-right-former-councilor-himself-wore-a-life-jacket-seated-the-children-of-neighbors-on-a-similar-boat-127539465.html
via IFTTT