ओडिया सोसाइटी ऑफ यूके लंदन में भगवान जगन्नाथ का एक मंदिर बना रही है। ये मंदिर हू-ब-हू उड़ीसा के जगन्नाथ मंदिर की तरह ही होगा। जगन्नाथ पुरी सनातन परंपरा के चार धामों में से एक है। शंकराचार्य द्वारा स्थापित चार पीठों में से एक गोवर्धन मठ यहां है। मंदिर के लिए ट्रस्ट बनाकर दुनियाभर के जगन्नाथ भक्तों को जोड़ा जा रहा है।

मंदिर की लागत करीब 40 मिलियन पाउंड (करीब 40 करोड़ रुपए) है, जो दान के जरिए ही जुटाए जाएंगे। फिलहाल ग्रेटर लंदन में इसके लिए जमीन खोजी जा रही है। हाल ही में, ओडिया सोसाइटी ऑफ यूके ने अपने सालाना समारोह में इसका फैसला किया है। मंदिर का डिजाइन पुरी मंदिर की तरह ही होगा।

सोसाइटी सदस्यों ने शुरुआती खर्चों के लिए ब्रिटेन में रह रहे लोगों को ही जोड़कर इकट्ठा किया है। सोसाइटी की योजना है कि मंदिर निर्माण के लिए बनाए जा रहे ट्रस्ट में पूरी दुनिया के ओडिया लोग और भगवान जगन्नाथ के भक्त शामिल हों।

10 से 12 एकड़ में बनेगा मंदिर
ग्रेटर लंदन में सोसाइटी द्वारा 10 से 12 एकड़ जमीन तलाशी जा रही है। जिसमें मंदिर का मूल स्वरूप तो होगा ही, साथ ही ओडिया कल्चर से जुड़ी चीजें भी होंगी। इस बारे में सोसाइटी ने पुरी शंकराचार्य जगतगुरु स्वामी निश्चलानंद सरस्वती से भी मार्गदर्शन लिया है। वीडियो कांफ्रेंस के जरिए यूके सोसाइटी ने शंकराचार्य से चर्चा की और मंदिर निर्माण पर उसने भी सलाह ली है।

2024 तक पूरा हो जाएगा प्रोजेक्ट
सोसाइटी की योजना है कि मंदिर का निर्माण जल्दी शुरू हो और 2024 तक इसे किसी भी सूरत में पूरा कर लिया जाए। हालांकि, लंदन में पहले से एक जगन्नाथ मंदिर है लेकिन वो छोटा है और अब सोसाइटी उड़ीसा की परंपराओं को जिन्हें जगन्नाथ कल्चर कहा जाता है, उन्हें दुनियाभर में फैलाना चाहती है। इसे सिर्फ मंदिर की तरह नहीं, ओडिया सभ्यता के केंद्र की तरह तैयार किया जाएगा।

ब्रिटेन में 200 से ज्यादा मंदिर
ब्रिटेन दुनिया के उन चंद देशों में से है, जहां सबसे ज्यादा हिंदू मंदिर हैं। इस समय ब्रिटेन में मौजूद हिंदू मंदिरों की संख्या 210 के आसपास है। ग्रेटर लंदन जहां जगन्नाथ मंदिर बनाने का प्रस्ताव है, उसमें भी करीब 35 मंदिर हैं। इस्कॉन स्वामीनारायण संप्रदाय, रामकृष्ण मिशन सहित कई बड़े समूहों ने यहां मंदिर बनाए हैं।

कई देशों में हैं भगवान जगन्नाथ के मंदिर
अकेले भारत में ही नहीं, भगवान जगन्नाथ के दुनियाभर में कई मंदिर हैं। भारत के बाहर सबसे पुराना जगन्नाथ मंदिर बांग्लादेश में है। यहां कोमिला में 16वीं शताब्दी का जगन्नाथ मंदिर है। इसके अलावा पाकिस्तान के सियालकोट में 2007 में एक मंदिर बनाया गया था। इनके साथ ही आस्ट्रेलिया, इटली, लंदन, सेन फ्रांसिस्को, शिकागो, मास्को और मॉरिशस में भी भगवान जगन्नाथ के मंदिर हैं। जहां रथयात्राएं भी निकाली जाती हैं।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
ग्रेटर लंदन में बनने वाले जगन्नाथ मंदिर का प्रस्तावित डिजाइन ये हैं, जो पुरी स्थित मंदिर से मिलता-जुलता ही है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33NErcX
via IFTTT