पटना के अल्बर्ट एक्का भवन कैंपस में जर्जर मकान की दीवार और छत गिर जाने से रविवार दोपहर 3 बजे बड़ा हादसा हो गया। छह साल के सन्नी की मलबे में दबने से मौत हो गई। वहीं 12 साल का प्रधान और 8 साल का साहेब गंभीर रूप से घायल है। घटना के कारण का पता नहीं चला है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि छह-सात बच्चे मकान के एक कमरे में चोर-सिपाही खेल रहे थे।

अचानक तेज आवाज के साथ दीवार और छत गिर गई। इसमें सन्नी काफी अंदर तक दब गया। पुलिस ने मलबा हटाया तो सन्नी के चेहरे पर धूल और खून सना था। परिजन उसे लेकर पीएमसीएच भागे लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

यहां पाई जाती है केव फिश

फोटो मेघालय में स्थित जयंती गुफा की है। यह दुनिया की सबसे गहरी, सबसे लंबी और सबसे बड़ी गुफा है, जिसकी तलहटी में दुनिया की सबसे बड़ी केव फिश पाई जाती हैं।

सारंडा की पहाड़ी नदियां भी जवानों के लिए चैलेंज

पिछले दो दशक से झारखंड के सारंडा, कोल्हान और पोड़ाहाट के जंगलों में नक्सलियों के खिलाफ जवानों की जंग जारी है। ये जंग पैरा मिलिट्री जवानों के लिए मानसून के दिनों में ज्यादा चुनौतीपूर्ण और जोखिम भरा हो जाता है। सारंडा के बीच बहने वाली पहाड़ी नदियों व नालों के कारण जवानों की मुश्किलें बढ़ जाती हैं। नक्सलियों से खतरे और बढ़ जाते हैं। फिर भी रोजाना जंगल के कैंपों में रह रहे ये जवान नदी-नाले पार कर मोर्चा ले रहे हैं।

अल्हड़ बचपन: बारिश में बच्चा खेलने में मग्न

रांची में रविवार की शाम लगभग एक घंटे झमाझम बारिश हुई। इससे पिछले 2 दिनों की उमस भरी गर्मी से लोगों को राहत मिली। रविवार को दोपहर बाद बादल उमड़ने-घुमड़ने लगे थे। दोपहर 3 बजे से कई इलाकों में तेज तो कहीं धीमी बारिश शुरू हो गई। वहीं शाम करीब 6 बजे मेन रोड, लालपुर समेत अन्य इलाकों में जोरदार बारिश होने लगी। एक घंटे में 46 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई। इस दौरान एक बच्चा बारिश में मस्ती करता नजर आया।

सूरत का असली मिजाज

सूरत कोरोना काल में भी अपने असली मिजाज में आ रहा है। रास्तों के किनारे फुटपाथ पर परिवार के साथ भोजन का लुत्फ उठाना यह सूरती मिजाज की पहचान है। कोरोना के कारण थम गई यह प्रथा रविवार को एक बार फिर देखने को मिली। अठवा लाइंस, यूनिवर्सिटी रोड, गौरव पथ, वाय जंक्शन पर लोगों ने परिवार के साथ भोजन का आनंद लिया।

बिना नंबर प्लेट वाली बाइक पर बिना हेलमेट लगाए 3 बैठे

मध्यप्रदेश के गुना में ट्रैफिक नियमों का पालन न करने वाले वाहन चालकों पर रविवार को कार्रवाई की गई। इस दौरान हनुमान चौराहे से गुजर रहे तीन बाइक सवार पुलिसकर्मियों को नहीं रोका गया। दिलचस्प संयोग रहा कि वे तीन नियम एक साथ तोड़ रहे थे, जिनके लिए अन्य लोगों पर जुर्माना लगाया जा रहा था। एक तो बाइक पर तीन सवारी का नियम। दूसरा हेलमेट और तीसरा उनकी बाइक बिना नंबर प्लेट वाली थी। वे उस समय गुजरे जब चौराहे पर विशेष मुहिम के तहत पुलिस व नपा के कर्मचारी तैनात थे।

मंदिर में फूल-प्रसाद नहीं चढ़ेंगे, दरगाह में वजू पर रहेगी रोक

कोरोनाकाल के 172 दिन बाद सोमवार को पुष्कर स्थित विश्वविख्यात ब्रह्मा मंदिर और ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह आमजन के लिए खुल जाएंगे। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए गर्भवती महिलाओं, 10 साल से कम उम्र के बच्चे और 65 साल से अधिक उम्र के वृद्धों को दरगाह और मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए जगह-जगह गोले बनाए गए हैं। ब्रह्मा मंदिर में फूल-प्रसाद चढ़ाने पर पाबंदी रहेगी तो वहीं दरगाह में वजू पर रोक रहेगी।

ट्रैक्टर की छतरी लेकर निकले युवक

मध्यप्रदेश के रायसेन जिले में बीते 57 घंटों से बारिश रुकी हुई थी। इसके चलते दिन का तापमान 34.2 डिग्री तक पहुंच गया। इससे लोगों को गर्मी के दिनों का अहसास होने लगा है। हालांकि रविवार की शाम 5 बजे से रुक-रुक कर बारिश होती रही। इससे जहां एक ओर शहर की सड़कें तरबतर हो गईं तो वहीं दूसरी ओर वातावरण में भी ठंडक घुल गई। इस दौरान बारिश से बचने के लिए 3 युवक ट्रैक्टर की छतरी लेकर ही निकल पड़े।

वियतनाम की पंगेशियस मछलियां पाली जा रहीं

भोपाल के बड़े तालाब पर लगभग ढाई करोड़ रुपए से तैयार 96 कैज में पंगेशियस मछलियां पाली जा रही हैं। फिशरीज विभाग के डिप्टी डायरेक्टर एंड रिसर्च ऑफिसर गिरीश मेश्राम ने बताया कि रिसर्च के उद्देश्य से तैयार किए गए इस कैज में 90 टन से अधिक मछली का उत्पादन हुआ है।

वॉटर स्केटिंग, एयर बैलून का आनंद उठा सकेंगे पर्यटक

मध्यप्रदेश के धार से 40 किमी दूर सरदारपुर तहसील के गांव लाबरिया में माही डैम परियोजना के बैक वाटर के समीप हनुवंतिया की तर्ज पर पर्यटन स्थल विकसित हो रहा है। यहां पर्यटक वाटर स्केटिंग, बोटिंग, एयर बेलून का आनंद ले सकेंगे। इसके लिए जिला प्रशासन ने एडवेंचर कंपनियों से चर्चा शुरू कर दी है। कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने बताया- पर्यटन स्थल के माध्यम से रूरल टूरिज्म पर जोर दिया जा रहा है।

लोमड़ी जैसे चेहरे वाला चमगादड़

राजस्थान के सीकर जिले के श्रीमाधोपुर में रविवार को एक दुर्लभ भारतीय फ्लाइंग फॉक्स चमगादड़ मिला। लोमड़ी के चेहरे की तरह दिखने वाला यह जानवर पूरे दिन कौतूहल का विषय बना रहा। आम तौर पर दिखने वाले चमगादड़ों की तुलना में इसका कद बड़ा है और काफी डरावना भी। सूचना पर वन विभाग की टीम ने फ्लाइंग फॉक्स को अपने कब्जे में ले लिया। रेंजर देवेन्द्र सिंह राठौड़ ने बताया कि यह चमगादड़ मेगा बैट है जिसे फ्लाइंग फॉक्स यानी उड़ने वाली लोमड़ी भी कहते हैं।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
The dilapidated building and wall collapsed in Patna's Albert Ekka Campus, one child died due to being buried under rubble, Brahma temple and Khwaja Moinuddin Chishti's shrine will open from today


from Dainik Bhaskar /national/news/the-dilapidated-building-and-wall-collapsed-in-patnas-albert-ekka-campus-one-child-died-due-to-being-buried-under-rubble-brahma-temple-and-khwaja-moinuddin-chishtis-shrine-will-open-from-today-127694356.html
via IFTTT