दिवाली देश का सबसे बड़ा त्योहार है। इसके लिए हम उत्साह के साथ ढेरों तैयारियां करते हैं, लेकिन यह उत्साह बना रहे और सभी सुरक्षित रहें, यही सबसे जरूरी है। दिवाली पर हम कुछ बातों का खास ध्यान रखते हैं, लेकिन इस दिवाली कोरोना की वजह से हमें और भी सावधानियां बरतनी हैं।

बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा कोरोना की सभी गाइडलाइंस को सही ढंग से फॉलो करना है। बाहर की खाने-पीने की चीजों पर इस बार निर्भरता कम करनी है और लोकल को वोकल करना है, यानी विदेशी समानों की जगह पर स्वदेशी समानों को खरीदना है।

इस दिवाली इन 6 बातों का रखें ध्यान

1. चीजों का सही रेट पता करें

इस समय खरीदारी भी आप जमकर करते हैं। खरीदने से पहले चीजों का रेट पता कर लें। कई बार हमें बाजार में चीजों की वैराइटी और सही रेट का पता नहीं होता, जिससे हम ज्यादा पैसे खर्च करके भी उतनी अच्छी चीजें नहीं खरीद पाते। ऐसे समय में छोटे बाजारों का रुख करना बेहतर होता है। यहां पर आपको वैराइटी भी ज्यादा मिलती है और आप मोल-भाव भी कर सकते हैं। त्योहार में होने वाले खर्च को ऐसे ही कम किया जा सकता है।

2. मिलावटखोरी से सावधान

त्योहारों का समय हो तो पकवान बनने और बाजार से इन्हें लाने का सिलसिला भी खूब चलता है। आपको फूंक-फूंक कर कदम रखना होगा। अगर बाजार से मिठाइयां ला रहे हैं तो मावे या दूध की मिठाइयों से परहेज ही करें, क्योंकि फेस्टिव सीजन में इन चीजों में मिलावट अपने चरम पर होती है। घर पर मावे की मिठाई बनाते समय भी ध्यान रखें, अगर मावा मिलावटी हुआ तो आपको बीमार कर सकता है।

3. लोकल को वोकल करें

दिवाली में इलेक्ट्रॉनिक समानों की खरीददारी भी बहुत होती है। डेकोरेशन के लिए भी हम लाइट्स समेत कई इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीदते हैं। मार्केट में चीनी सामानों का कब्जा है। सीमा पर चीन हमारे खिलाफ लगातार साजिश कर रहा है। ऐसे में प्रधानमंत्री की अपील है कि हम लोकल को वोकल करें यानी विदेशी की जगह पर स्वदेशी सामानों को खरीदें।

4. स्वस्थ रहें

त्योहारों में हम खूब खाते-पीते हैं, लेकिन यह दिवाली पहले जैसी नहीं है। कोरोना के चलते हमें इस दिवाली अपने स्वास्थ पर विशेष ध्यान देना होगा। कोरोना के दौर में दिवाली में उत्साह कम न होने पाए, इसके लिए खुद का और परिवार का स्वस्थ रहना जरूरी है।

5. प्रदूषण को कम करें

दिवाली के पहले से ही हर तरफ पटाखों की गूंज सुनाई देती है और हर तरफ शोर होता है। दिवाली के पहले से शुरू होकर सप्ताह भर बाद तक पटाखों का दौर चलता है, लेकिन कोरोना के इस दौर में पटाखों का धुआं संक्रमित और ठीक हो चुके लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

6. सुरक्षित रहें

दिवाली पर जलाए जाने वाले पटाखे, फूलझड़ियां आपके त्योहार को जितना संवारती हैं, जरा सी अनदेखी से बिगाड़ भी सकती हैं। इसलिए इनका इस्तेमाल करते समय विशेष सावधानी रखें। यहां तक दीपक जलाने में भी सावधानी रखें। बच्चों को इनसे दूर रखें। ऐसे किसी सामान के आसपास दीपक न रखें, जो आग पकड़ सकते हों।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Buy indigenous goods instead of foreigners, follow Corona's guidelines, make Diwali fantastic in these 6 ways


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/34LByuL
via IFTTT